न्यायालय से गिरफ़्तारी पर राहत न मिलने के बाद खालिद ने किया समर्पण

195

khalid
जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के दो छात्रों, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य ने मंगलवार देर रात दिल्ली पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। दोनों ने दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा उन्हें गिरफ्तारी से अंतरिम राहत देने से मना करने के कुछ घंटे बाद आत्मसमर्पण किया। 12 फरवरी से लापता रहने के बाद दोनों रविवार की रात को जेएनयू परिसर में वापस लौट आए थे। वे एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक से विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार तक आए और दिल्ली पुलिस के वाहन में सवार हो गए और उन्हें अज्ञात स्थान पर ले जाया गया।
सूत्रों ने बताया कि उमर खालिद और अनिर्बान की मेडिकल जांच के लिए सुबह तड़के करीब 5 बजे मिनट पर डॉक्टरों की टीम थाने पहुंची। करीब एक घंटे तक दोनों छात्रों की मेडिकल जांच की गई। यूनिवर्सिटी प्रशासन के मुताबिक छात्रों की सुरक्षा के मद्देनजर सरेंडर करने में देरी हुई है हलांकि दोनों आरोपियों के सरेंडर करने के बाद स्टूडेंट्स ने सभा कर दुख जताया और लड़ाई जारी रखने की बात कही। जेएनयू छात्र संघ उपाध्यक्ष शहला राशिद ने छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के जमानत की उम्मीद भी जताई।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि खालिद और भट्टाचार्य ने मध्यरात्रि के करीब आत्मसमर्पण किया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोनों को साउथ कैंपस थाना में पुलिस हिरासत में रखा गया है। उन्हें आज सुबह मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा। खालिद और भट्टाचार्य उन पांच छात्रों में हैं जिन्होंने संसद भवन हमले के दोषी अफजल गुर की नौ फरवरी को बरसी के मौके पर विश्वविद्यालय परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर राष्ट्रविरोधी नारेबाजी की थी।
कन्हैया कुमार, खालिद और भट्टाचार्य के अलावा अन्य छात्र हैं रामा नागा, आशुतोष कुमार और अनंत प्रकाश। दिल्ली पुलिस ने गत 20 फरवरी को खालिद, भट्टाचार्य, नागा, आशुतोष और प्रकाश के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था। विश्वविद्यालय के छात्रों ने आज शाम जब खालिद और भट्टाचार्य कैंपस से जा रहे थे तो मीडिया को उनका पीछा करने से रोकने के लिए मानव श्रृंखला बनाई थी। बाकी तीन आरोपी अभी भी कैंपस में ही हैं और अपने वकीलों से विचार-विमर्श कर रहे हैं। आरके पुरम थाने में दोनों आरोपी देर रात उमर और अनिर्बान दोनों निजी जीप पर यूनिवर्सिटी से बाहर निकले और जेएनयू के गेट नंबर 4 पर पहुंचे जहां पुलिस के सामने सरेंडर किया और पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया।
सूत्रों के अनुसार वहां से पुलिस ने उन्हें अपनी वैन में बैठाया और सीधे वसंत कुंज नार्थ थाने ले गई, जहां इनके खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज है। उसके बाद आरोपियों की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस दोनों को आरके पुरम थाने लेकर पहुंची। थाने के आस पास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। साउथ डिस्ट्रिक्ट की एसटीएफ की टीम उमर और अनिर्बान से पूछताछ कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here