डॉक्टरों के यहां लड़की सप्लाई करती थी यह नर्स !

693

लखनऊ: लखनऊ पीजीआई अस्पताल की नर्स सुशीला सचान पर आरोप है कि वह डॉक्टरों के यहां लड़की सप्लाई करती है। नर्स अब भी पुलिस की पकड़ से दूर है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। अब तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस की मानें तो सुशीला ने अपने इस धंधे से करोड़ों की दौलत इकट्ठा की है।

सुशीला कोई मामूली नर्स नहीं है। अपनी हनक के लिये वह जानी जाती है। अगर इसकी संपत्ति की बात की जाए, तो वह करोड़ों की मालकिन है। लखनऊ जैसे शहर में उसका नर्सिंग होम है। कानपुर में सुशीला के दो स्कूल चलते हैं। सुशीला के चंगुल में फंसने वाली एक पीड़िता ने बताया कि वह अपने मकान पर शहर के रईसजादों और डॉक्टरों को बुलवाती थी और हम जैसी लड़कियों को उनके सामने परोसा देती थी।

छात्रा के परिजन भी आरोपी नर्स के खिलाफ कार्रवाई की गुहार करते रहे हैं। पीड़ित छात्रा ने बताया कि लखनऊ के जिस नर्सिंग होम में उसे रखा गया था और जहां उसके साथ रेप और गैंगरेप कराए जाते थे, वहां गर्भपात से लेकर तरह तरह के गलत काम होते थे।

पीजीआई की इस नर्स पर नाबालिग के साथ लगातार चार माह तक रेप कराए जाने का मामला सामने आया है। किशोरी ने बर्रा थाने में नर्स और तीन अन्य के खिलाफ 17 फरवरी को शिकायत की थी, जिस पर कानपुर पुलिस ने पॉस्को एक्ट सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। आरोपी नर्स तक पहुंचने के लिए मामला लखनऊ के कृष्णा नगर थाने को ट्रांसफर किया जाना है, जिसकी प्रक्रिया अभी चल रही है।

पीड़िता के मुताबिक, लखनऊ में पीजीआई की नर्स सुशीला सचान ने डॉक्टरों से उसका रेप करवाया। पीड़िता ने बताया कि 150 दिन में 450 लोगों ने उसके साथ रेप किया। पुलिस ने जिला अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल कराया, जिसकी मेडिकल रिपोर्ट पुलिस को नहीं मिली। आरोपी नर्स के यहां काम करती थी पीड़िता की मां बर्रा इलाके में रहती है। वह सुशीला सचान के यहां काम करती थी। उसकी दो बेटियां हैं। दोनों बेटियां सुशीला के स्कूल में ही पढ़ती थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here