9 विकेट से UAE को दी करारी शिकस्त

192

uae
भारतीय क्रिकेट टीम ने एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट में विजय अभियान जारी रखते हुए यूनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) को नौ विकेट से करारी शिकस्त दी। भारत की टूर्नामेंट में यह लगातार चौथी जीत है और वह पहले ही फाइनल में जगह बना चुका है। फाइनल में खिताब के लिए भारतीय टीम की भिड़ंत छह मार्च को मेजबान बांग्लादेश से होगा।
यूएई ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन भारत ने उसे 20 ओवरों में नौ विकेट पर 81 रन ही बनाने दिये. उसकी तरफ से आधे से अधिक रन शैमन अनवर (43) ने बनाये. भारत ने केवल 10.1 ओवर में एक विकेट पर 82 रन बनाकर लगातार चौथी जीत दर्ज की.

रोहित शर्मा ने 28 गेंदों पर 39 रन बनाये जबकि अपना 50वां टी20 मैच खेल रहे युवराज सिंह 25 और शिखर धवन 16 रन बनाकर नाबाद रहे. भारत की इस जीत की नींव गेंदबाजों ने रख दी थी जिनके सामने यूएई के बल्लेबाज बगलें झांकते नजर आये. भुवनेश्वर कुमार (चार ओवर में आठ रन देकर दो विकेट) और हरभजन सिंह (11 रन देकर एक विकेट) ने बल्लेबाजों को रनों के लिये तरसाये रखा.

भारत के पहले ही फाइनल में पहुंचने के कारण इन दोनों को इस साल अपना पहला टी20 मैच खेलने का मौका मिला. इस मैच में पदार्पण करने वाले पवन नेगी (16 रन देकर एक विकेट), जसप्रीत बुमराह (23 रन देकर एक विकेट), हार्दिक पांड्या (तीन ओवर में 11 रन देकर एक विकेट) और युवराज (दो ओवर में दस रन देकर एक विकेट) ने विकेट हासिल किये. भारत के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने एक तरह से बल्लेबाजी का अभ्यास किया.

रोहित और धवन अपनी पिछली दो पारियों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये थे और इसलिए उनके पास मैच अभ्यास का यह बहुत अच्छा मौका था. रोहित ने इसका फायदा उठाया. उन्होंने पहले दो ओवरों में परिस्थितियों का परखने के बाद यूएई के कप्तान अमजद जावेद की लगातार गेंदों पर दो चौके और एक छक्का लगाया और फिर मोहम्मद नावेद और कादिर अहमद पर भी दो-दो चौके जमाये.

कादिर की गेंद पर एक और बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में रोहित ने थर्ड मैन पर कैच थमा दिया. उन्होंने अपनी पारी में सात चौके और दो छक्के लगाये. रोहित जब आउट हुए तब भारत का स्कोर 43 रन था और धवन दो रन पर खेल रहे थे. युवराज को बल्लेबाजी के अभ्यास के लिये उपरी क्रम में भेजा गया. उन्होंने कादिर पर चौका जडकर खाता खोला और इसी ओवर में धवन ने भी लगातार दो चौके लगाये.

युवराज जल्द से जल्द मैच समाप्त करने के मूड में थे. मोहम्मद शहजाद की गेंद लांग आफ पर छह रन के लिये लहराकर उन्होंने अपने इरादे जतला दिये थे. इसी गेंदबाज के अगले ओवर में उन्होंने विजयी चौका लगाया. युवराज ने 14 गेंद खेली तथा चार चौके और एक छक्का जमाया जबकि धवन की 20 गेंद की पारी में तीन चौके शामिल हैं.

इससे पहले भारत ने दूसरी बार किसी टीम को 100 से कम स्कोर पर रोका. दोनों टीमों के बीच किसी तरह का मुकाबला ही नहीं था. यूएई ने कुल 77 गेंद खाली छोड़ी. उसकी टीम ने संघर्ष का जज्बा ही नहीं दिखाया. भुवनेश्वर का पहला स्पैल काफी किफायती था. उन्होंने तीन ओवरों में 15 गेंद खाली डाली और इस बीच स्वप्निल पाटिल को अपनी ही गेंद पर कैच करके भारत को पहली सफलता भी दिलायी.

बुमराह ने नये बल्लेबाज मोहम्मद शहजाद को आउट करके स्कोर दो विकेट पर दो रन कर दिया. अनवर ने रोहन मुस्तफा (11) के साथ तीसरे विकेट के लिये 23 रन और मोहम्मद उस्मान (नौ) के साथ चौथे विकेट के लिये 26 रन जोड़कर कुछ उम्मीद जगायी लेकिन इसके बाद विकेटों का पतन शुरू हो गया. बायें हाथ के स्पिनर नेगी ने उस्मान को हरभजन के हाथों कैच कराकर इसकी शुरुआत की. नेगी ने इसके बाद हरभजन की गेंद पर यूएई के कप्तान अमजद जावेद (शून्य) का कैच लपका. यूएई ने आखिरी छह विकेट 30 रन के अंदर गंवाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here