बांग्लादेश को हराकर टीम इंडिया छठवीं बार बनी एशिया कप की चैंपियन

166

Bangladesh-Asia-Cup
भारत ने पहली बार टी-20 फॉरमेट में खेले गए एशिया कप में खिताबी जीत हासिल की है। भारत ने रिकॉर्ड छठी बार यह खिताब अपने नाम किया है। धोनी की कप्तानी में भारत ने दूसरी बार यह खिताब जीता है। मेजबान बांग्लादेश ने शेर-ए-बांग्ला नेशनल स्टेडियम में रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में भारत के सामने 121 नों का लक्ष्य रखा, जिसे उसने शिखर धवन (60) और विराट कोहली (नाबाद 41) की शानदार पारियों की मदद से 13.5 ओवरों में 2 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया।
बांग्लादेश द्वारा दिए गए 121 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को पहला झटका पांच के स्कोर पर रोहित शर्मा के रूप में लगा जब वो एक रन बनाकर पवैलियन लौट गए. उनके बाद शानदार फॉर्म में चल रहे विराट कोहली ने शिखर के साथ मिलकर पारी को जमाया. शिखर ने धीमी शुरूआत की पर जल्द ही फाइनल मैच में अपने रंग में लौट आए. शिखर धवन ने 43 गेंदों पर 60 रन की धमाकेदार पारी खेली. 99 के कुल योग पर आउट होने वाले धवन ने अपने टी-20 करियर की अब तक की सबसे बड़ी पारी खेलते हुए 44 गेंदों का सामना करते हुए 9 चौके और एक छक्का लगाया जबकि कोहली ने 28 गेंदों पर पांच चौके लगाए. आउट होने से पहले शिखर ने विराट के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 94 रन की शानदार साझेदारी निभाई. वहीं विराट कोहली फिर नाबाद लौटे. विराट ने महज़ 28 गेंद पर 41 रन की मैच विनिंग पारी खेली.

धवन का विकेट गिरने के बाद जब धोनी जब विकेट पर आए थे, तब भारत को 14 गेंदों पर 21 रन चाहिए थे. धोनी ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए इन 21 रनों में से 20 रन अपने नाम किए. अंतिम 12 गेंदों पर भारत को 19 रनों की जरूरत थी. धोनी ने बिग-हिटर की अपनी पुरानी छवि की झलक फिर से दिखाई और अल अमीन हुसैन ओवर में दो छक्कों और एक चौके की मदद से 19 रन बटोर लिए. यह धोनी का ही कमाल था कि भारत ने सात गेंदें शेष रहते मेजबान टीम के पहली बार यह खिताब जीतने के सपने को चकनाचूर कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here