वर्ल्ड टी-20 प्रैक्टिस मैच: दक्षिण अफ्रीका ने भारत को चार रनों से हराया

180

dhawan
वर्ल्‍ड टी-20 के अपने दूसरे अभ्‍यास मैच में टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के हाथों 4 रन से हार का सामना करना पड़ा। अंतिम गेंद तक चले रोमांचक मुकाबले में भारत को अंतत: मुंह की खानी पड़ी।

197 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम शिखर धवन (73) और सुरेश रैना (41) के बीच चौथे विकेट की 94 रन की साझेदारी के बावजूद तीन विकेट पर 192 रन ही बना सकी। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (16 गेंद में नाबाद 31) और युवराज सिंह (8 गेंद में नाबाद 16) ने चार ओवर में 51 रन की अटूट साझेदारी की, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरुआत खराब रही और उसने 16 रन तक ही सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (10) और विराट कोहली (01) के विकेट गंवा दिए। रोहित को काइल एबॉट ने पगबाधा आउट किया, जबकि कोहली ने डेल स्टेन की गेंद पर विकेटकीपर डिकॉक को कैच थमाया।

इसके बाद धवन और रहाणे ने मोर्चा संभाला। धवन ने एबॉट जबकि रहाणे ने क्रिस मॉरिस को दो-दो चौके मारे। दोनों ने पावर प्ले में टीम का स्कोर दो विकेट पर 47 रन तक पहुंचाया।

लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने अगले ओवर में रहाणे को बोल्ड करके भारत को तीसरा झटका दिया। रहाणे ने 11 रन बनाए। धवन ने मॉरिस को लगातार दो चौके मारे, जबकि सुरेश रैना ने भी आरोन फांगिसो पर छक्का जड़ा, जिससे भारत ने 10 ओवर में तीन विकेट पर 84 रन बनाए।

भारत को अंतिम चार ओवर में जीत के लिए 55 रन की दरकार थी और इसी समय धवन और रैना रिटायर हो गए, जिससे जिम्मेदारी युवराज और कप्तान धोनी पर आ गई। धवन ने 53 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौके जड़े, जबकि रैना की 26 गेंदों में 41 रन की पारी में तीन चौके और दो छक्के शामिल रहे।

धोनी ने मॉरिस की लगातार गेंदों पर दो चौके जड़े, जबकि स्टेन की लगातार गेंदों पर भी छक्का और चौका मारा। युवराज ने भी अगले ओवर में एबॉट पर चौका और छक्का जड़ा, जिससे भारत को अंतिम ओवर में 14 रन की जरूरत थी लेकिन मॉरिस के इस ओवर में सिर्फ 10 रन बने।

दक्षिण अफ्रीका की पारी…
जेपी डुमिनी और क्विंटन डिकॉक के अर्धशतकों की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने भारत के खिलाफ आईसीसी वर्ल्ड टी-20 से पहले अभ्यास मैच में आठ विकेट पर 196 रन बनाए।

डुमिनी (67) और डिकॉक (56) ने दूसरे विकेट के लिए 8.1 ओवर में 77 रन की साझेदारी भी की, जिससे टीम 200 रन के करीब पहुंचने में सफल रही। डुमिनी ने 44 गेंद की अपनी पारी में छह चौके और तीन छक्के मारे, जबकि डिकॉक ने रिटायर होने से पहले 33 गेंद का सामना करते हुए सात चौके और दो छक्के जड़े।

टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने तीसरे ओवर में ही हाशिम अमला (5) का विकेट गंवा दिया, जिन्होंने जसप्रीत बुमराह की गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को कैच थमाया।

कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने आते ही बुमराह पर दो चौके जड़े। सलामी बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक ने भी मोहम्मद शमी पर तीन चौके मारे। डु प्लेसिस ने भी शमी पर चौका जड़ा, लेकिन अगली गेंद पर रवींद्र जडेजा को कैच दे बैठे। उन्होंने सात गेंद में 12 रन बनाए।

डुमिनी ने पांचवें ओवर में बुमराह पर लगातार दो चौके मारे, जबकि डिकॉक ने भी इसी ओवर में लगातार दो चौके जड़कर टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। इस ओवर में 20 रन बने। डिकॉक ने अगले ओवर में हरभजन सिंह की लगातार गेंदों पर भी चौका और छक्का जड़ा। टीम ने पावर प्ले में दो विकेट पर 67 रन बनाए।

डिकॉक ने बाएं हाथ के स्पिनर पवन नेगी का स्वागत छक्के के साथ किया और फिर रवींद्र जडेजा पर चौके के साथ 28 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here