विश्वकप में भारत ने पाकिस्तान को हराया, रिकॉर्ड बरक़रार

182

t20-worldcup-2016
विराट कोहली के नाबाद अर्धशतक की मदद से भारत ने शुरूआती झटकों से उबरते हुए टी20 विश्व कप क्रिकेट के मुकाबले में आज चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को छह विकेट से हराकर विश्व कप में उसके खिलाफ अश्वमेधी अभियान बरकरार रखा ।

प्रति टीम 18 ओवर के मैच में जीत के लिये 119 रन का लक्ष्य भारत ने 15 . 5 ओवर में ही हासिल कर लिया । कोहली 37 गेंद में सात चौकों और एक छक्के की मदद से 55 रन बनाकर नाबाद रहे । पहले मैच में न्यूजीलैंड से हारी भारतीय टीम की मौजूदा टूर्नामेंट में यह पहली जीत है । इससे पहले पाकिस्तान ने 18 ओवर में पांच विकेट खोकर 118 रन बनाये थे ।

भारत के लिये यह करो या मरो का मुकाबला था और टूर्नामेंट में बने रहने के लिये उसे हर हालत में जीतना था । आईसीसी विश्व कप में भारत की पाकिस्तान पर यह लगातार 11वीं जीत है और कोहली ने उसके खिलाफ लगातार तीसरा अर्धशतक बनाया है । ईडन गार्डन पर भारत की पाकिस्तान पर यह पहली जीत है ।

कोहली ने एक बार फिर कठिन विकेट पर बेहतरीन पारी खेलकर दिखा दिया कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से क्यो है । युवराज सिंह : 24 : के साथ उन्होंने चौथे विकेट के लिये 61 रन जोड़े ।
भारत के लिए कोहली ने सबसे अधिक रन बनाए जबकि युवराज सिंह ने 24 रनों का योगदान दिया. रोहित शर्मा के बल्ले से 10 रन निकले जबकि शिखर धवन छह रन बना सके. सुरेश रैना का खात नहीं खुला.

कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने नाबाद 13 रन बनाए. रोहित का विकेट 14 के कुल योग पर गिरा था जबकि धवन 23 रन पर पवेलियन लौटे थे. रैना को मोहम्मद समी ने इसी योग पर आउट किया था.

भारत बेहद दबाव में था लेकिन इसके बाद मैन ऑफ द मैच चुने गए कोहली ने युवराज के साथ चौथे विकेट के लिए 61 रनों की साझेदारी कर भारत की न सिर्फ मैच में वापसी कराई बल्कि उसे जीत तक भी ले गए.

युवराज का विकेट 84 के कुल योग पर गिरा. युवराज ने 23 गेंदों का सामना कर एक चौका और एक छक्का लगाया. इसके बाद कोहलीने अपने कप्तान के साथ 35 रनों की नाबाद साझेदारी के साथ भारत को जीत दिला दी.

धौनी ने नौ गेंदों का सामना कर एक चौका लगाया जबकि कोहली ने 37 गेंदों का सामना कर सात चौके और एक छक्का लगाया. कोहली ने टी-20 मैचों में 14वां अर्धशतक लगाया. वह अब इस फॉरमेट में सबसे अधिक अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं.

पाकिस्तान की ओर से मोहम्मद समी ने दो विकेट लिए जबकि मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज को एक-एक विकेट मिला.

यह आईसीसी विश्व कप के दो प्रारूपों (टी-20 और 50 ओवर) में भारत की पाकिस्तान पर 11वीं जीत है.

इससे पहले, बारिश के बाद फिरकी ले रही पिच पर भारतीय स्पिनरों ने उम्दा प्रदर्शन किया और टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी कर रही पाकिस्तानी टीम को 18 ओवरों तक सीमित पारी में पांच विकेट पर 118 रन ही बनाने दिए.

पाकिस्तान की ओर से शोएब मलिक ने सबसे अधिक 26 रन बनाए जबकि अहमद शहजाद ने 25 रनों का योगदान दिया. इसके अलावा उमर अकमल ने 22 और शरजील खान ने 17 रन जोड़े.

पाकिस्तान की शुरुआत अच्छी लेकिन धीमी रही. शरजील और शहजाद ने पहले विकेट के लिए 38 रन जोड़े. जोरदार स्पिन ले रही विकेट पर दोनों ने इतने रन जोड़ने के लिए 46 गेंदें खेलीं.

शरजील का विकेट आठवें ओवर की चौथी गेंद पर गिरा. उन्हें सुरेश रैना ने पंड्या के हाथों कैच कराया.

उनका स्थान लेने आए कप्तान शाहिद अफरीदी (8) हालांकि खुलकर नहीं खेल सके. अफरीदी से पहले पाकिस्तान ने अच्छा खेल रहे शहजाद का विकेट गंवाया. वह 46 के कुल योग पर आउट हुए.

इसके बाद अफरीदी को 46 के कुल योग पर पंड्या ने विराट कोहली के हाथों कैच कराया.

उमर अकमल और मलिक ने इसके बाद चौथे विकेट के लिए 41 रन जोड़े, जो पाकिस्तान के लिए सबसे बड़ी साझेदारी साबित हुई.

अकमल 101 तथा मलिक 105 के कुल योग पर आउट हुए. अकमल ने 16 गेंदों का सामना कर एक चौका और एक छक्का लगाया.

मलिक ने 16 गेंदों की तेज पारी में तीन चौके और छक्का लगाया. अकमल को रवींद्र जडेजा और मलिक को आशीष नेहरा ने आउट किया.

सरफराज अहमद आठ तथा मोहम्मद हफीज पांच रनों पर नाबाद लौटे.

भारत का यह इस विश्व कप में पहली जीत है. वह अपने पहले मैच में न्यूजीलैंड के हाथों हार गया था. पाकिस्तान की भी यह पहली हार है. उसने अपने पहले मैच में बांग्लादेश को हराया था.

अब भारत को 23 मार्च को बेंगलुरू में बांग्लादेश का सामना किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here