शर्मनाक: पाकिस्तानी झंडा फहराने का विरोध तिरंगा फहराकर करने वालों छात्रों पर पुलिस का कहर

205

kashmir
जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के एनआईटी कैंपस में छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। पिछले हफ्ते टी-20 विश्व कप में भारत की हार के बाद छात्रों के बीच हुई झड़प के कारण तनावग्रस्त संस्थान में सीआरपीएफ भी तैनात कर दी गई।
कैंपस में पुलिस लाठीचार्ज की पुष्टि करते हुए जम्मू कश्मीर के उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा, ‘एनआईटी के छात्र मीडिया से मिलने के लिए गेट की तरफ बढ़े तो पुलिस को हल्का लाठी चार्ज करना पड़ा।’ समाचार एजेंसी एएनआई ने सिंह के हवाले से बताया, ‘कैंपस में सीआरपीएफ की दो कंपनियां तैनात की गई है, हालांकि हालात अब नियंत्रण में हैं।’
जयपुर में रहने वाले एक स्टूडेंट ने बताया कि जब भारत क्रिकेट मैच में वेस्ट इंडीज से हारा था, तब एनआईटी में मौजूद कश्मीरी स्टूडेंट्स ने जश्न मनाते हुए 1 अप्रैल को पाकिस्तानी झंडा दिखाया था।
चूंकि एनआईटी में 65 से 70% स्टूडेंट्स जम्मू-कश्मीर के बाहर से आते हैं, ऐसे में उन्होंने इसका विरोध तिरंगा लहराकर किया। इसके बाद विवाद शुरू हो गया। 1 अप्रैल से ही स्टूडेंट्स के दो गुट भारत और पाकिस्तान का झंडा लेकर विरोध कर रहे हैं। यहां मौजूद एनआईटी के डायरेक्टर प्रो. रजत गुप्ता इस मामले में कोई एक्शन लेने के बजाय तिरंगा फहराने वाले स्टूडेंट्स के खिलाफ हो गए हैं। उनकी सहमति से ही मंगलवार को पुलिस ने कैम्पस में आकर तिरंगा लेकर प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज किया। जबकि पाकिस्तान का झंडा लेकर प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here