जैश-ए-मुहम्मद का कमांडर गिरफ्तार, आधार कार्ड बरामद

468

aatanki-aadhar
सरहद पार से घुसपैठ कर कश्मीर घाटी में दाखिल होने वाले विदेशी आतंकियों के भी आसानी से आधार कार्ड बन रहे हैं। इसका खुलासा शुक्रवार रात उत्तरी कश्मीर के बारामुला में सेना व पुलिस के एक संयुक्त कार्यदल द्वारा पकड़े गए जैश-ए-मुहम्मद के पाकिस्तानी आतंकी ने किया। उसके पास से भी भारत में बना आधार कार्ड मिला है। आतंकी की पहचान गुलाम कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद के रहने वाले अब्दुल रहमान के रूप में हुई है।

आतंकी अब्दुल रहमान इसी वर्ष फरवरी माह में अपने पांच साथियों के साथ कश्मीर में घुसपैठ करने में कामयाब रहा था। उसे बारामुला के हाजीबल के जंगल से पकड़ा गया। आतंकी से बरामद आधार कार्ड पर उसका नाम शब्बीर अहमद खान पुत्र गुलाम रसूल खान लिखा हुआ है। उसके कार्ड का नंबरः 647856225315 है।

इस साल उत्तरी कश्मीर में जैश-ए-मुहम्मद के किसी पाकिस्तानी आतंकी के जिंदा पकड़े जाने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले 26 फरवरी को बारामुला के कांसीपोर इलाके से पुलिस ने 18 वर्षीय सिद्दीक गुज्जर निवासी सियालकोट को पकड़ा था। सिद्दीक गुज्जर जैश के उस आत्मघाती दस्ते में शामिल था, जिसने नवंबर में टंगडार में सैन्य शिविर पर हमला किया था।

बारामुला स्थित एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि हम अब्दुल रहमान से बरामद आधार कार्ड की जांच करा रहे हैं। उसकी मदद करने वाले उसके स्थानीय साथियों को पकड़ने के लिए भी उनके संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। उन्होंने कहा कि विदेशी आतंकियों के पास मतदाता पहचानपत्र पहले भी मिले हैं। लेकिन आधार कार्ड मिलने का यह पहला मामला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here