अमर बेनी किया नामांकन, अरविन्द की जगह सुरेन्द्र को टिकट

166

amar-singh
समाजवादी पार्टी (सपा) के मेंबर्स ने बुधवार को राज्यसभा और विधान परिषद के लिए नामांकन किया। राज्यसभा के लिए सात और विधान परिषद के लिए आठ लोगों ने पर्चा भरा। शॉर्ट नोटिस पर सूचना मिलने के बाद सुरेंद्र नागर पर्चा भरने विधानभवन के सेंट्रल हाल पहुंचे और राज्यसभा के लिए पर्चा दाखिल किया।
अमर सिंह ने सबसे पहले किया नामांकन
दोपहर बाद लगभग 12 बजकर 40 मिनट पर अमर सिंह अपनी पत्नी पंकजा और दो बेटियों के साथ पर्चा दाखिल करने पहुंचे। पर्चा भरने के बाद मीडिया से बात करते हुए अमर सिंह ने कहा कि वह हमेशा से समाजवादी रहे हैं और नेताजी मुलायम सिंह का आर्शीवाद से वह आज फिर राज्यसभा जा रहे हैं। अमर सिंह ने कहा कि वह समाजवादी पार्टी के साथ तन और मन दोनों से साथ हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का भी शुक्रिया अदा किया।
व्यापारियों की आवाज उठायेंगे संजय
विधान परिषद के लिए बार- बार की गयी आपत्ति के बाद संजय सेठ अब उससे भी उच्च सदन जाने की तैयारी में हैं। बुधवार को उन्होंने समाजवादी पार्टी की ओर से विधान परिषद के लिए पर्चा दाखिल किया। नामांकन करने के बाद संजय सेठ ने कहा कि राज्य सभा में हर वर्ग के लोग जाते हैं। उन्हें मौका मिला है। वह सदन में व्यापारियों के हितों और उनसे जुड़े मुद्दों को उठायेंगे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राज्यपाल का आर्शीवाद लेने वह राजभवन जाएंगे।
बेनी ने जताया मुलायम का आभार
हाल ही में कांग्रेस छोड़ सपा में वापस लौटे बेनी प्रसाद वर्मा ने दिन में लगभग एक बजे राज्यसभा के लिए अपना पर्चा दाखिल किया। इस मौके पर उन्होंने मुलायम सिंह यादव के साथ अखिलेश यादव का भी शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह की वजह से वह आज राज्यसभा जा रहे हैं। सुरेंद नागर ने कहा कि मुलायम सिंह के आर्शीवाद से वह राज्यसभा जा रहे हैं। इतने शॉर्ट नोटिस पर सूचना मिलने के बाबत पूछे जाने पर नागर ने कहा कि इसका जवाब नेता जी ही दे सकते हैं.
इन्होंने भी दाखिल किया पर्चा
समाजवादी पार्टी की ओर से बुजुर्ग नेता रेवती रमण सिंह, विशंभर निषाद और सुखराम सिंह यादव ने राज्य सभा के लिए पर्चा दाखिल किया। वहीं विधान परिषद चुनाव के लिए यशवंत सिंह, बलराम यादव, बुक्कल नवाब, राम सुंदर निषाद, रणविजय सिंह, कमलेश पाठक, शतरुद्ध प्रकाश व जगजीवन प्रसाद ने नामांकन पत्र दाखिल कराया। इससे पहले सपा मुख्यालय पर उम्मीदवार व पार्टी नेता एकत्र हुए और मुलायम सिंह से मिलकर काफिले के रूप में विधानसभा की ओर कूच किया। नामांकन के दौरान वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां की अनुपस्थिति चर्चा का विषय रही।
एक दिन पहले बदला प्रत्याशी
समाजवादी पार्टी ने नामांकन से ठीक पहले एक कैंडीडेट को बदल दिया। मंगलवार को दो बजे अरविंद प्रताप सिंह का टिकट बदलकर सुरेंद्र नागर का टिकट फाइनल किया था। सुरेंद्र नागर नोएडा के व्यवसायी हैं। सुरेंद्र लोक सभा चुनाव से ठीक पहले सपा में शामिल हुए थे। सीएम अखिलेश यादव ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलायी थी। राज्यसभा से वंचित किये गये अरविंद प्रताप सिंह और संजय लाठर को विधानपरिषद के लिए नॉमिनेट करने की तैयारी है।
10 और 11 जून को होगी वोटिंग
राज्यसभा की 11 और विधान परिषद की 13 सीटों के लिए 10 और 11 जून को वोटिंग होगी। इस चुनाव में एमएलए वोटर होते हैं। विधानसभा चुनाव से पहले विधान परिषद का यह आखिरी चुनाव है।
बॉक्स
28 को बसपा उम्मीदवारों का नामांकन
बसपा के प्रत्याशी 28 मई को नामांकन कराएंगे। बसपा ने सतीश मिश्रा व अशोक सिद्धार्थ को राज्यसभा के लिए उम्मीदवार घोषित किया है। वहीं अतर सिंह राव, दिनेश चंद्रा व सुरेश कश्यप विधान परिषद के उम्मीदवार होंगे। चुनाव की अधिसूचना मंगलवार को जारी हुई थी लेकिन पहले दिन कोई पर्चा नहीं भरा गया था। नामांकन 31 मई तक कराए जाएंगे और जांच एक जून को होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here