घुसपैठ की कोशिश नाकाम, तीन आतंकी ढेर

207

army
सेना ने कुपवाड़ा में एलओसी पार कर भारत में घुसने की कोशिश कर रहे तीन घुसपैठियों को समाचार लिखे जाने तक ढेर कर दिया था। अन्य के साथ भीषण मुठभेड़ जारी थी। हजारों सैनिकों को आतंकियों को ढेर करने की खातिर झौंका जा चुका था। फिलहाल यह पक्की खबर नहीं मिल पाई थी कि घुसपैठ का प्रयास करने वालों की संख्या कितनी थी, पर सूत्रों के मुताबिक, यह संख्या दर्जन के करीब है।
उत्तरी कश्मीर में सीमावर्ती कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा अर्थात एलओसी के पास सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच गुरुवार को भीषण मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया गया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सेना की 35 आरआर यूनिट जो नियंत्रण रेखा की निगरानी कर रही है, ने आज सुबह सेक्टर में टूटमार गली के पास करीब दर्जनभर आतंकियों के समूह को रोका। सेना की चुनौती के बाद आतंकियों ने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी जिस पर जवाबी कार्रवाई करते हुए सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई।

उन्होंने बताया कि अभी तक मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया गया और उनके शव मुठभेड़ स्थल के पास हैं। साथ ही घने जंगलों में अभियान जारी है। इस बीच 18 जाट और पहले नागा के अतिरिक्त बलों को इलाके में रवाना कर दिया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों ने खुफिया सूचना के आधार पर कुपवाड़ा जिले में एलओसी पर नौगाम सेक्टर को चारों ओर से घेरकर सघन तलाशी अभियान चलाया। अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों द्वारा घेराबंदी कड़ी किए जाने के साथ ही आतंकवादियों ने गोली चलानी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। माना जा रहा है कि आतंकवादियों की संख्या दर्जन से भी ज्यादा हो सकती है।

यह ज्ञात नहीं है कि मुठभेड़ में शामिल आतंकवादी पहले से वहां छिपे हुए थे या फिर एलओसी के जरिए हाल ही में भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की थी। याद रहे कुपवाड़ा जिले में ही मंगलवार रात अगवा किए गए एक नागरिक को आतंकवादियों ने बुधवार को मौत के घाट उतार दिया था।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने बुधवार सुबह राजवर के जंगलों में एक नागरिक की हत्या कर दी, जिसकी पहचान लियाकत अली चटवाल के रूप में हुई है। अधिकारी ने कहा कि उसे मंगलवार रात वटसार गांव से अपहृत किया गया था, जहां वह अपनी बहन से मिलने गया था। अधिकारी ने कहा कि हत्या की जांच शुरू कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here