गुलबर्ग सोसाइटी केस में 24 दोषी करार, 36 बरी, 6 जून को होगा सजा का ऐलान

194

gulbarg-s
गुजरात दंगों के दौरान गुलबर्ग सोसाइटी हत्याकांड के मामले में गुरुवार को अहमदाबाद में स्पेशल कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है. कोर्ट ने इस मामले में 24 आरोपियों को दोषी करार दिया है, जबकि 36 लोगों को बरी कर दिया. बरी किए गए लोगों में बीजेपी के पार्षद भी शामिल हैं. मामले में 6 जून को सजा का ऐलान होगा.

28 फरवरी 2002 को भड़की हिंसा के दौरान भीड़ ने गुलबर्ग सोसायटी पर हमला कर दिया था. इस हमले में 69 लोग मारे गए थे, जिनमें पूर्व कांग्रेस सांसद एहसान जाफरी भी शामिल थे. घटना के बाद 39 लोगों के शव बरामद किए गए थे जबकि सात साल बाद बाकी 30 लापता लोगों को मृत मान लिया गया था.

जाकिया जाफरी ने जताई असंतुष्टि
कोर्ट के फैसले पर जाकिया जाफरी ने कहा कि वह इससे संतुष्ट नहीं हैं. उन्हें इस मामले में अभी और जद्दोजहद करनी पड़ेगी. जाफरी ने कहा, ‘मुझे आधा न्याय मिला है. ये लड़ाई जारी रखेंगे. 14 साल बाद फैसला आया है, 15 साल और लगेंगे.’

कुल 338 लोगों की हुई गवाही
मामले की सुनवाई साल 2009 में शुरू हुई थी, जिसमें कुल 66 आरोपी थे. इनमें से चार की पहले ही मौत हो चुकी है. मामले की सुनवाई के दौरान 338 लोगों की गवाही हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here