भारत समर्थक पार्टियों को वोट देना इस्लाम के ख़िलाफ़

227

bilalbahadur
भारत-प्रशासित कश्मीर में सैय्यद अली शाह गिलानी ने कहा है कि कश्मीर में भारत समर्थक सियासी पार्टियों को वोट देना इस्लाम धर्म के ख़िलाफ़ है और शरई तौर पर भी हराम है.
गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत कांफ्रेंस के गुट ने श्रीनगर में रविवार को एक सेमिनार आयोजित किया था. इसी सेमिनार में सैय्यद अली शाह गिलानी ने ये बात कही.
सैय्यद अली शाह गिलानी ने भारत समर्थक सियासी पार्टियों को वोट न देने की बात कहते हुए कहा कि नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी, पीपुल्स कांफ्रेंस, आवामी इतिहाद पार्टी और दूसरी जितनी भी चुनाव लड़ने वाली पार्टियां हैं वह सब कश्मीर मसले की दुश्मन हैं.
गिलानी ने कहा, “ये सियासी जमातें उस कुल्हाड़ी के दस्ते हैं जो भारत हम पर चला रहा है. और शरई तौर पर ऐसी जमातों को वोट देना हराम है.”
गिलानी ने आगे बताया, “ये सियासी जमातें कश्मीर में जारी भारत के ज़ुल्म और जबर का साथ देती हैं, और शराब, नशे और बेहयाई को आम करते है.”
इस समय कश्मीर में अनंतनाग ज़िले की एक सीट पर उपचुनाव हो रहा है.
अलगाववादियों ने आम लोगों से इस चुनाव का बहिष्कार करने को कहा है.
कश्मीर में हथियारबंद आंदोलन शुरू होने के बाद आज तक कश्मीर में जितने भी चुनाव कराए गए, अलगाववादियों ने उन सभी चुनावों के ख़िलाफ़ बहिष्कार की मुहिम चलाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here