टीम इंडिया ने जिम्बाब्वे को 8 विकेट से हराया, 2-0 से जीती सीरीज

533

indian team
महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली युवा भारतीय टीम ने जिम्बाब्वे के साथ तीन एक दिवसीय मैचों की सीरीज पर 2-0 से जीत के साथ कब्जा कर लिया है। आज खेले गए दूसरे एक दिवसीय मैच में 127 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया ने दो विकेट के नुकसान पर जरूरी रन बना लिए। भारत की ओर से लोकेश राहुल ने 33, करुण नायर ने 39, अंबाति रायडू ने नाबाद 41 और मनीष पांडे ने नाबाद 4 रन का योगदान दिया। भारत की ओर से सबसे कामयाब गेंदबाज युजवेंद्र चहल रहे जिन्होंने जिम्बाब्वे के तीन विकेट झटके, धवल कुलकर्णी और बरिंदर सरां को दो-दो विकेट मिले, जसप्रीत बुमराह और अक्षर पटेल ने एक-एक विकेट लिए। आज के मैच में भारतीय गेंदबाजों ने अपना दबदबा बनाए रखा और जिम्बाब्वे को खुलकर खेलने का मौका नहीं दिया।

भारतीय पारी
1-10 ओवर का हाल (स्कोर42/0)
जिम्बाब्वे द्वारा दिए गए 127 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया की ओर से सलामी बल्लेबाजी लोकेश राहुल और करुण नायर ने जिम्मेदारी संभाली और मैच के पहले ओवर में यानि तेंदई चतारा के ओवर में एक भी रन बनाने में नाकामयाब रहे। दूसरा ओवर तौरई मुज़ारबानी ने फेंका। इस ओवर में लोकेश के एक चौके की मदद से भारत ने नौ रन बनाए। तीसरे ओवर में टीम इंडिया की ओर करुण ने एक चौका लगाया और इस ओवर में चार रन ही बने। चौथे ओवर में लोकेश राहुल ने एक चौका ठोककर टीम का आगे बढ़ाया। तेंदई चतारा के पांचवें ओवर में लोकेश के एक चौके की मदद से भारत ने 11 रन जोड़े। तौरई मुज़ारबानी ने छठा ओवर मैडन फेंका। इस ओवर तक टीम इंडिया ने बिना किसी नुकसान के 28 बना लिए। छठे ओवर और सातवें में स्कोर में केवल एक-एक रन का इजाफा हुआ। वहीं आठवें ओवर में लोकेश राहुल के दो चौकों की मदद से आठ रन मिले। नौवें ओवर में टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज केवल दो रन जोड़ पाए। और 10वें ओवर में तीन रन के साथ टीम इंडिया का स्कोर बिना किसी नुकसान के 42 रन हो गया।

लंच तक भारतीय पारी (स्कोर 38/0)
11 वां ओवर चामु चिभाभा ने फेंका और इसमें तीन रन बने और 12वें ओवर में भी तीन सिंगल्स ही मिले। 13वां ओवर लोकेश राहुल ने खेला और एक भी रन नहीं बना। यह ओवर चामु चिभाभा ने फेंका। इसके बाद लंच की घोषणा कर दी गई। लंच तक लोकेश राहूल 43 गेंदों पर 4 चौकों की मदद से 25 रन पर खेल रहे थे। वहीं, करुण नायर ने 36 गेंदों पर 3 चौकों की मदद से 21 रन का योगदान दिया।

लंच के बाद से 20वें ओवर तक का खेल (स्कोर 83/1)
14वां ओवर तेंदई चतारा ने फेंका और भारतीय सलामी जोड़ी ने टीम के स्कोर में चार रन जोड़े। वहीं, चामु चिभाभा ने 15वां ओवर डाला और इस ओवर में बल्लेबाजों ने क्रीज के बीच दौड़कर रन बनाने का एक अच्छा उदाहरण पेश किया। और पहली तीन गेंदों पर 6 रन बनाए लेकिन इसी ओवर की चौथी गेंद पर लोकेश राहुल को चिभाभा ने बोल्ड आउट किया। लोकेश राहुल के आउट होने के बाद मैदान पर आए अंबाति रायडु ने दो चौकों के साथ टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया। 16वें ओवर में टीम इंडिया ने 10 रन जोड़े। 17वें ओवर ने रायडु ने एक सिंगल लेकर करुण नायर को बल्लेबाजी दी जिन्होंने दो रन बनाकर टीम का स्कोर 71 रन तक पहुंचाया। 18वें ओवर में केवल एक रन मिला और 19वें ओवर में टीम इंडिया के बल्लेबाज केवल तीन रन जोड़ पाए। 20वां ओवर एल्टन चिगुम्बुरा ने फेंका और एक नोबॉल पर चौका लगाकर रायडु ने रन गति को कुछ बढ़ाया। इस ओवर में 8 रन बने।

21-26वें ओवर तक का हाल (स्कोर 129/2)
21वां ओवर चामु चिभाभा ने फेंका और इस ओवर में करुण नायर ने एक चौके की मदद से पांच रन बनाए। 22वें ओवर में अंबाती रायडु ने अपना हाथ खोला और एल्टन चिगुम्बुरा को पहली ही दो गेंद पर दो चौके ठोके। इस ओवर में टीम इंडिाय ने 100 रन का आंकड़ा छुआ और इस ओवर में कुल 12 रन टीम के खाते में जुड़े। इस समय टीम को जीत के लिए 27 रनों की दरकार है। 23 वें ओवर में अंबाति रायडू ने दो चौके जमाये और इस ओवर में 8 रन का इजाफा टीम के स्कोर में किया। इस समय टीम का स्कोर एक विकेट के नुकसान पर 108 रन रहा। 24वें ओवर में अंबाति रायडू और करुण नायर ने एक-एक चौका मारा और एक सिंगल के साथ इस ओवर में 9 रन आए। इस ओवर के बाद टीम को जीत के लिए केवल आठ रनों की जरूरत रह गई। 25वें ओवर में दोनों बल्लेबाजों ने एक-एक रन बनाया। 26वें ओवर की चौथी गेंद पर सलामी बल्लेबाज करुण नायर को सिकंदर रजा ने बोल्ड आउट किया।

जिम्बाब्वे की पारी
पहले 10 ओवर का हाल जिम्बाब्वे का स्कोर 39/3 रन
10वें ओवर में धवल कुलकर्णी ने सलामी बल्लेबाज चामु चिभाभा को पगबाधा आउट कर दिया।चामु ने 26 गेंदों पर एक चौके की मदद से 21 रनों का योगदान दिया।
बरिंदर सरां ने भारत को दूसरी कामयाबी भी दिलाई। उनकी गेंद पर जिम्बाब्वे के गेंदबाज मूर पगबाधा आउट करार दिए गए। मूर ने तब 9 गेंदें खेलकर केवल एक रन ही बनाया था। जब वे आउट हुए तब टीम ने दो विकेट के नुकसान पर 21 रन बनाए थे। बरिंदर सरां ने भारत को पहली सफलता दिलाई। मसाकाद्जा को सरां ने जसप्रीत बुमराह के हाथों कैच आउट करवाया। जब मसाकादजा आउट हुए तब उन्होंने 17 गेंदों पर 9 रन बनाए थे और टीम का स्कोर था एक विकेट पर 19 रन।

इससे पहले दूसरे मैच में टॉस जीतकर धोनी ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया। आज के मैच के लिए टीम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। जिस टीम के साथ भारत पहले वनडे में उतरा था आज भी उसी के साथ मैदान पर है। (देखें स्कोरकार्ड)

11-20 ओवर तक का हाल (स्कोर 89/3)
जिम्बाब्वे ने 11वें और 12 वें ओवर में केवल सात रन बनाए। उन्हें एक अच्छी साझेदारी की बहुत जरूरत है। 12 ओवर में उनका स्कोर 46/3 है। 13-14वें ओवर में भी जिम्बाब्वे के क्रीज पर डटे बल्लेबाज वुसी सिबांडा और सिकंदर रजा ने संभलकर बल्लेबाजी की और केवल चार रन ही जोड़े। ये दोनों ओवर जसप्रीत बुमराह और अक्षर पटेल ने फेंके। 15-16वें ओवर में तीन चौके के साथ सिबांडा ने टीम का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 64 पर पहुंचाया। सिबांडा के साथ सिकंदर ने 13 गेंदे खेलकर 4 रन का योगदान दिया। 17वें ओवर में जिम्बाब्वे के बल्लेबाजों ने केवल दो रन ओर जोड़े। 19वें ओवर में चहल की गेंद पर सिबांडा ने एक छक्का जड़ा और टीम का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 80 रन पहुंचा दिया। 20 ओवर की समप्ति पर टीम का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 89 रन रहा। इसी के साथ दोनों बल्लेबाजों में 50 रन की साझेदारी भी पूरी की।

21-30 ओवर तक का हाल (स्कोर 111/6)
21वें ओवर में क्रीज पर जमें दोनों बल्लेबाजों ने एक चौके की मदद से 5 रन जोड़े और 22वें ओवर में भी यही हाल रहा। ये दोनों ही चौके सिबांडा ने ठोके। उधर, 23वें ओवर में कुल तीन सिगल्स की सहायता से बल्लेबाजों ने टीम के स्कोर तीन रन का ही इजाफा किया और टीम का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 102 रन हुआ। 24 वें ओवर में एक चौका लगा और यह भी सिबांडा ने ठोका। 25वें ओवर की दूसरी और तीसरी गेंद पर युजवेंद्र चहल ने सिकंदर रजा और एल्टन चिगुम्बुरा का विकेट झटका। सिंकदर को जहां कैच आउट किया गया वहीं, चिगुम्बुरा को पगबाधा आउट करार दिया गया। 26वें ओवर में अक्षर पटेल ने केवल एक रन दिया। 27वें ओवर में चहल ने सिबांडा को कैच आउट करवाया। इस ओवर में एक भी रन नहीं बना। 28 वें ओवर में अक्षर पटेल ने केवल दो रन दिए। 29वां ओवर धवल कुलकर्णी ने कराया और केवल दो रन दिए।

31-36वें ओवर तक का हाल (126/9)
31वें ओवर की दूसरी गेंद पर जसप्रीत बुमराहने रिचमंड मुटुम्बामी को धोनी के हाथों कैच करवाकर पैवेलियन का रास्ता दिखा दिया। इस ओवर में बुमराह ने केवल तीन रन दिए। 32 वें ओवर में धवल कुलकर्णी ने चौथी गेंद पर तेंदई चतारा को आउट कर पैवेलियन भेज दिया। इस ओवर में कुलकर्णी ने केवल एक रन दिया। 33 वें ओवर में जसप्रीत आए और उन्होंने सधी हुई गेंदबाजी की और इस ओवर में एक चौका लगा और जिम्बाब्वे ने 6 रन बनाए। 34वें ओवर में धवल कुलकर्णी ने केवल तीन रन दिए और कोई कामयाबी नहीं मिली। वहीं 35वें ओवर में अक्षर पटेल ने तौरई मुज़ारबानी को आउट किया और टीम ने पारी घोषित कर दी क्योंकि अंतिम खिलाड़ी शॉन विलियम्स चोटिल थे और मैदान पर उतरने के लायक नहीं था। विलियम्स को उंगली पर चोट लगी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here