जम्मू में मंदिर में तोड़फोड़ के बाद बवाल

273

jammu bawal
जम्मू में एक मंदिर में हुई तोड़फोड़ बाद हिंसा भड़क उठी है। जम्मू के जानीपुर इलाके में मौजूद आपशंभु मंदिर में मंगलवार रात को तोड़फोड़ की गई, जिसके विरोध में लोग सड़कों पर जमा हो गए। शिकायत करने गए लोगों के साथ पुलिस की मारपीट ने इस बवाल को और भड़का दिया।

गुस्साए युवाओं की भीड़ ने थाने पर धावा बोल दिया। इलाके में जमकर पथराव हुआ। गुस्साई भीड़ ने थाने के पास की सड़क के किनारे खड़ी दो बसों, दो पुरानी कारों और एक स्कूटी को आग के हवाले कर दिया। डिवाइडर पर लगे ट्री गार्ड और ट्रैफिक सिग्नल की लाइटें भी तोड़ दीं। बताया जा रहा है कि आपशंभु मंदिर में डोडा के एक मुस्लिम युवक ने तोड़फोड़ की थी।

हालांकि पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए लोगों पर जमकर डंडे बरसाए और बेकाबू भीड़ को तितर-बितर करने के लिए उन पर आंसू गैस के गोले भी दागे। पुलिस और भीड़ के बीच हुए हिंसक टकराव में प्रदर्शनकारी, पत्रकार और कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। इस बीच मंदिर में तोडफ़ोड़ की सीसीटीवी फुटेज भी वायरल हो गई। इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

बताया जा रहा है कि घटना शाम छह बजे शुरू हुई थी। पांच घंटे से भी अधिक समय तक चले घमासान के दौरान पुलिस बिल्कुल बेबस नजर आई। इस दौरान आसपास के इलाकों में वाहनों के आने जाने पर रोक लगा दी गई। पुलिस की गाड़ी की चपेट में आने से एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया जिसके बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है। देर रात तक पुलिस और प्रशासन के शीर्ष अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंचे, मगर तनाव बरकरार ही रहा।

पुलिस ने उग्र भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज भी किया। करीब सात घंटे तकपुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई इस झड़प में कई पत्रकार भी जख्मी हुए। इस दौरान करीब 25 प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है और 50 लोगों को हिरासत में लिया है।

यह मामला उस समय बढ़ा जब रूपनगर इलाके के एक धार्मिक स्थल में एक शख्स ने एक मंदिर में छेड़छाड़ की। जब उस युवक को धार्मिक स्थल में मौजूद दूसरे युवक ने रोका तो दोनों के बीच हाथापाई हुई जिसके बाद पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया। हालांकि धार्मिक स्थल में मौजूद दूसरे युवक को तो पुलिस ने छोड़ दिया, लेकिन छेड़खानी करने वाले युवक को भीड़ के हवाले करने की मांग को लेकर लोगों ने प्रदर्शन किया।

जम्मू के डीएम सिमरनदीप सिंह ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया, वहां खड़े वाहनों में आग लगाई और तोड़फोड़ की। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए लाठीचार्ज किया।

मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित : शहर में शुरू हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद जम्मू में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को आज निलंबित कर दिया गया। जम्मू के उपायुक्त सिमरनदीप सिंह ने बताया कि सुरक्षात्मक उपाय के तहत, हमने स्थिति के सामान्य होने तक मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित रखने का फैसला किया है। सिंह ने कहा कि शीर्ष पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी कल रात से ही स्थिति का निरीक्षण कर रहे हैं और स्थिति को बिगड़ने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने का फैसला किया गया।
विज्ञापन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here