पीएम बोले -अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बराबरी कोई और दिवस नहीं कर पा रहा है

180

narendra-modi
दूसरे अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी आज चंडीगढ़ में हैं। योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में पीएम के साथ पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल भी मौजूद हैं।

इस मौके पर लोगों के संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा –
पीएम मोदी ने कहा कि इस समय देश के हर कोने में योग के कार्यक्रम से लोग जुड़े हुए हैं। विश्व के सभी देश अपने-अपने समय की सुविधा से इस कार्यक्रम के साथ जुड़े हुए हैं।

यूएन द्वारा पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। भारत के अनुरोध पर गत वर्ष इसका प्रारंभ हुआ। 21 जून इस लिए चुनाव गया क्योंकि यह सबसे लंबा दिवस होता है। इसलिए इस दिन को चुनाव गया।
पूरे विश्व ने इसका साथ दिया। विकसित से विकासशील देश सभी ने साथ दिया। यूएन द्वारा बनाए गए इतने दिवस में कोई दिवस जनांदोलन बन गया हो ऐसा योग दिवस के साथ ही हुआ है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बराबरी कोई और दिवस नहीं कर पा रहा है।
योग क्या मिलेगा इसके लिए नहीं है। योग क्या दे पाऊंगा इसके लिए है। यह मुक्ति का मार्ग है, पाने का मार्ग नहीं है।
सभी संप्रदाय इस बात पर बल देते हैं, कि मृत्यु के बाद आपको क्या प्राप्त होगा। परलोक में क्या मिलेगा। योग इह लोक के लिए है। यह समाज में एकसूत्रता की ताकत देता है। इसी जन्म में क्या मिलेगा उसी का विज्ञान है योग है।
योग आस्तिक के लिए भी है और नास्तिक के लिए भी है। दुनिया में कहीं भी जीरो बजट से हेल्थ इंश्योरेंस नहीं होता है। लेकिन योग इसकी गारंटी देता है। गरीब और अमीर सभी के लिए है योग।
गरीब देशों के लिए यह सबसे उपयोगी है। इससे काफी पैसा बचाया जा सकता है। योग सरल, सस्ता और सभी के लिए उपलब्ध स्वस्थ रहने का मार्ग है। योग को जीवन से जोड़ना जरूरी है।
अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए योग जरूरी है। आज योग प्रतिष्ठा का विषय बना हुआ है। भारत सरकार ने योग को बढ़ावा देने के लिए विश्व स्तर पर प्रयास किए हैं। योग की शुद्धता बरकरार रखने के लिए भी काम किया जा रहा है।
योग हमारे लिए सामाजिक, आर्थिक और आध्यात्मिक चेतना का साधन बन गया है। जनसामान्य की भलाई के लिए योग जरूरी है। योग इहलोक में क्षमता बढ़ाने का काम करता है।
विश्व में योग बड़ा कारोबार भी बनता जा रहा है। दुनिया के हर देश में योग ट्रेनर की जरूरत है। योग के साथ अरबों-खरबों का काम हो गया है। कई टीवी चैनल योग को समर्पित हैं।
योगाचार्यों से पीएम मोदी ने अपील की कि अगले एक वर्ष में क्या हम एक विषय पर केंद्रित रह सकते हैं। मधुमेह के लिए योगाचार्य एक हों। इस पर ध्यान दें। भारत में इसके रोगी बढ़ रहे हैं।
इसके लिए यौगिक उपाय लोगों तक पहुंचाए जाएं।
योग फिटनेस के साथ वेलनेस की गारंटी। अंतराष्ट्रीय योग अवार्ड और राष्ट्रीय योग अवार्ड की घोषणा की है। इसके लिए एक ज्यूरी होगी।
पीएम फ्रांसीसी वास्तुकार ली कोरबुसियर के डिजाइन वाले कैपिटल कांप्लेक्स में कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे हैं। कैपिटल कांप्लेक्स में समारोह में भाग लेने वाले 30,000 लोगों में केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा के 10-10 हजार लोग हिस्सा ले रहे हैं। इसके अलावा शहर में 100 अन्य जगहों पर 10,000 लोग योग दिवस का हिस्सा बने हैं। पहली बार कैपिटल कांप्लेक्स में 150 दिव्यांग भी सहायकों की मदद से योगासन कर रहे हैं।

पीएम मोदी के साथ हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, सांसद किरण खेर के अलावा कई और लोग मौजूद थे।

कार्यक्रम की शुरुआत
आयोजन स्थल पर प्रवेश सुबह 4 बजे शुरू हो गया था और सभी द्वार सुबह 5:30 बजे बंद हो गए। मुख्य आयोजन की शुरुआत सुबह 6:30 बजे हुई। वहीं कॉमन योग प्रोटोकॉल सुबह सात बजे शुरू होकर 45 मिनट तक चलेगा। यहां कड़े सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। आयोजन स्थल पर 5000 से अधिक पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान नजर रखे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here