क्या केजरीवाल की सैलरी PM मोदी से भी ज्यादा है ?

852

kejriwal-salary क्या दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का वेतन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ज्यादा है. सोशल मीडिया पर तो कुछ ऐसा ही दावा किया जा रहा है. जहां केजरीवाल का वेतन ना सिर्फ प्रधानमंत्री से बल्कि राष्ट्रपति से भी ज्यादा बताया जा रहा है. चलिए आपको बताते हैं वेतन का वायरल सच क्या है?

वायरल हो रही तस्वीर के जरिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सैलरी डेढ़ लाख रुपए महीने बताई जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सैलरी एक लाख 60 हजार रुपए महीने बताई जा रही है जबकि मुख्यमंत्री केजरीवाल को हर महीने 3 लाख 60 हजार रुपए मिलने का दावा किया जा रहा है.

लेकिन जब इस दावे की जाँच की गई तो सच्चाई सामने आई | केजरीवाल सरकार ने एक बिल केद्र सरकार के पास भेजा है जिसके अनुसार उनकी (केजरीवाल) की तनख्वाह 2 लाख 20 हजार होनी चाहिए लेकिन केंद्र ने इस बिल को ये कहते हुए लौटा दिया कि इसे उपराज्यपाल की अनुमति लिए बिना इसे केंद्र के पास भेजा गया जो कि दिल्ली राज्य के नियम के विरुद्ध है ये बिल पास हो जाता तो दिल्ली के मुख्यमंत्री का वेतन प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से ज्यादा हो जायेगा लेकिन फ़िलहाल अभी ऐसा नहीं है तो देख लेते हैं किसका है कितना वेतन ….

भारत के राष्ट्रपति का वेतन
भारत के राष्ट्रपति का वेतन 1 लाख 50 हजार रूपये है इसके अतिरिक्त राष्ट्रपति भवन को खर्च के लिए हर वर्ष २२ करोड़ रूपये मिलते हैं |

भारत के प्रधानमंत्री का वेतन 

भारत के पधानमंत्री का मूल वेतन 50 हजार रूपये है इसके अतिरिक्त संसदीय क्षेत्र भत्ता 45 हजार महीना, व्यय संबंधी भत्ते के तौर पर 3 हजार रुपए प्रतिमाह तथा रोजाना भत्ता 2 हजार रुपए के हिसाब से 60 हजार रुपए मिलते हैं | कुल मिलकर प्रधानमत्री का वेतन प्रतिमाह 1 लाख 58 हजार रुपए है | इसके अतिरिक्त 7 रेस कोर्स और मेडिकल सहित कुछ अन्य सुविधायें भी मिलती है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री का वेतन 

फ़िलहाल आज के समय में दिल्ली के मुख्यमंत्री का मूल वेतन 20 हजार रूपये है जबकि विधान सभा क्षेत्र भत्ता 18,000 रूपये प्रतिमाह के अलावा व्यय संबंधी भत्ता 4,000 रूपये प्रतिमाह भी मिलता है और रोजाना भत्ता 1 हजार के हिसाब से 30 हजार प्रतिमाह होता है। इस हिसाब से केजरीवाल का वेतन 72 हजार प्रतिमाह  बनता  है। इसके अलावा बिजली, बाहर घूमने फिरने और मेडिकल सुविधा के अलावा कुछ अन्य भत्ते भी दिल्ली के मुख्यमंत्री को मिलते हैं।

वायरल चित्र  में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की सैलरी का दावा तो करीब-करीब सही है लेकिन केजरीवाल की सैलरी का दावा गलत है. हाँ अगर केजरीवाल सरकार केंद्र से बिल पास करवाने में कामयाब हुई तो जरुर उनकी सैलरी बढ़कर 2 लाख 20 हजार हो जाएगी जो प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से ज्यादा हो जाएगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here