बारात लाये दुल्हे ने शादी से पहले ही दुल्हन से की सुहागरात की मांग, बारात बैरंग वापस

750

shaadi
शादी की खुशी उस वक्त गम में बदल गई जब शादी करने आए दूल्हे ने दुल्हन के साथ शादी से पहले ही सुहागरात की जिद करने लगा। जिसे देख दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया और चली गई। शादी के लिए आई बारात को बिना दुल्हन के ही वापस लौटना पड़ा। दुल्हन के पिता और भाई ने भी दूल्हे की इस हरकत के बाद बारातियों पर जमकर गुस्सा निकाला और खदेड़ दिया। उल्‍लेखनीय है कि ताजपुर बंगरा निवासी महेश सिंह ने अपनी पुत्री प्रमिला के लिए घटहो निवासी रामबली महतो के पुत्र संतोष कुमार से शादी तय किया था।

शादी के लिए एक शुभ मुहूर्त का दिन निकाला गया। दिन निकालने के बाद शादी की तैयारी करते हुए लड़का और लड़की के परिजन काफी खुश थे। लेकिन लड़के द्वारा की गई एक हरकत ने उनकी खुशी गम में बदल दी। हुआ यूं कि शादी के लिए तय हुए दिन के अनुसार घटहो निवासी रामबली महतो अपने बेटे और बारातियों के साथ शादी करने के लिए विद्यापति धाम मंदिर पहुंचे। जहां पहले से ही ताजपुर बंगरा निवासी महेश सिंह शादी की तैयारी करते हुए अपनी पुत्री और परिवार वालों के साथ मौजूद थे। बैंड बाजे के साथ बारात पहुंची तो लड़की वालों ने बारातियों का जोरदार स्वागत किया। बरातियों के स्वागत के बाद पारंपरिक रस्मों के तहत जब वरमाला करने के लिए कहा गया तो दूल्हा संतोष ने वरमाला से पहले लड़की से कुछ अकेले में बात करने का जिद करने लगा। जिसे देखते हुए लड़की वालों ने उसे लड़की से बात करने के लिए एक कमरे में भेज दिया जहां लड़की पहले से अकेली बैठी हुई थी। कमरे में जाते ही संतोष ने लड़की से बातचीत करने के दौरान अश्लील हरकत करते हुए शादी से पहले ही संबंध बनाने की बात करने लगा। जिसे सुनते ही लड़की उसका विरोध करते हुए कमरे से बाहर निकल गई और लड़के द्वारा कही गई बात अपनी भाभी से बताई। और शादी से इंकार कर घर चलने की बात करने लगी। यह बात सुनते ही लड़की पक्ष के लोग जहां खुशी से झूम रहे थे उनकी खुशी गम में बदल गई। तो शादी में आए बारातियों को भी लड़के की हरकतों का पता चला और वो लोग भी चुप चाप हो कर तमाशा देखने लगे। फिर भी कुछ लोगों ने लड़की को मनाने का काफी प्रयास किया लेकिन लड़की नहीं मानी और अपनी घर चली गई। वहीं लड़के वाले और बाराती को बेंड बाजे के साथ बिना दुल्हन के ही घर लौटना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here