बदल गया ये नियम, अब गेंदबाजों को मिलेगा इसका लाभ

296

lbw

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आई.सी.सी.) ने अंपायरों के पगबाधा निर्णयों में बदलाव को अपनी सहमति दे दी है जिससे गेंदबाजों को फायदा मिलेगा। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पगबाधा निर्णय हमेशा से विवाद का विषय रहे हैं और अंपायर फैसला समीक्षा प्रणाली (डी.आर.एस.) होने के बावजूद बल्लेबाज पगबाधा निर्णयों से कभी संतुष्ट नजर नहीं आते हैं। आई.सी.सी. ने पगबाधा से जुड़े अंपायरों के फैसले पर डी.आर.एस. से संबंधित नियमों में बदलाव को मंजूरी दे दी है जिसके बाद गेंदबाजों को फायदा होने की संभावना जताई जा रही है।

 

पगबाधा को लेकर अंपायर के फैसले से संबंधित डी.आर.एस. की परिस्थितियों के बारे में आई.सी.सी. ने कहा, “यदि पगबाधा से संबंधित मैदानी अंपायर का फैसला बदला जाता है तो नए नियमों में गेंद का आधा हिस्सा स्टंप के जोन में होना चाहिए जो ऑफ और लेग स्टंप का किनारा भी होगा। इससे पहले तक यह स्थिति थी कि गेंद का आधा हिस्सा ऑफ और लेग स्टंप के बीच के जोन में होना जरूरी होता था।”

 

आई.सी.सी. ने कहा कि पगबाधा निर्णयों को लेकर यह संशोधन एक अक्तूबर या फिर इस तिथि से ठीक पहले शुरू होने वाली किसी सीरीज से प्रभावी होगा जिसमें डी.आर.एस. का इस्तेमाल होता हो। इस परिवर्तन के बाद यह माना जा रहा है कि इस बदलाव से गेंदबाजों को अधिक फायदा मिलेगा तथा मैदानी अंपायर का फैसला तीसरे अंपायर को भेजे जाने पर अधिक बल्लेबाजों को आऊट दिया जाएगा। अभी तक यह होता था कि जिस जोन में गेंद हिट होनी चाहिए थी उस पर दिए जाने वाले फैसले अधिकतर पलट दिए जाते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here