तेजप्रताप ने पत्रकारों को दी धमकी, गुस्साये पत्रकारों को लालू ने मनाया

209

tejpratap-yadav

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव इन दिनों अधिकांश समय पटना में गुजरते हैं। इसका एक बड़ा कारण यह बताया जाता है कि वे अपने दोनों बेटों तेजप्रताप और तेजस्वी यादव के मत्रालय के कामकाज पर नजर रखते हैं। खासकर अपने बड़े बेटे तेजप्रताप के विभागों में उनकी रूचि कुछ ज्यादा होती है। मंगलवार को लालू यादव को अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव, जो कि स्वास्थ्य मंत्री भी हैं के तेवर के कारण पत्रकारों से बीचबचाव कर मान मनौव्वल करना पड़ा।

फोटो डिलीट करने से मना करने पर मानहानि की धमकी
दरअसल राष्ट्रीय जनता दल के 20 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में पार्टी दफ्तर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उस समय मंच पर बैठे तेजप्रताप यादव एक फोटोग्राफर से उसका कैमरा लेकर तस्वीरें ले रहे थे। उनके इस अंदाज की कुछ पत्रकारों ने मोबाइल से तस्वीरें ले लीं। तेजप्रताप को यह नागवार गुजरा। पहले उन्होंने एक पत्रकार को अपने कार्यकर्ता को भेजकर मंच पर बुलाया। नहीं आने पर फिर से बुलाया। उन्होंने फोटो डिलीट करने को कहा, लेकिन जब पत्रकार ने वह फोटो डिलीट करने से मना कर दिया तो वे मंच से माइक पर मानहानि का मुकदमा करने की धमकी देने लगे। लालू ने उन्हें शांत करने की कोशिश की।

बहिष्कार के ऐलान पर लालू ने मनाया
इसके बाद पत्रकारों ने उस कार्यक्रम का बहिष्कार करने की घोषणा कर दी। तब लालू यादव ने मंच पर खड़े होकर सबको शांत कराया। इसके बाद पत्रकार मान गए। तब जाकर कार्यक्रम फिर शुरू हो पाया। हालांकि मंच पर लालू के दूसरे बेटे तेजस्वी यादव भी मौजूद थे लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा। यह कोई पहली बार नहीं हैं कि तेजप्रताप यादव का पत्रकारों से विवाद हुआ है, लेकिन सार्वजनिक रूप से तू-तू. मैं-मैं की स्थिति पहली बार देखने को मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here