गौ रक्षकों पर फिर भड़के पीएम मोदी, कहा -इन्हें दंडित करने की जरूरत

269

 

pm-modi

गौ रक्षकों पर हमला जारी रखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज लोगों से कहा कि ‘‘फर्जी’ गौ रक्षकों से सावधान रहें क्योंकि वे समाज में तनाव पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने राज्य सरकारों से उनके खिलाफ कडी कार्रवाई करने को भी कहा.मोदी ने यहां कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद गाय रक्षकों पर आरोप लगाया कि वे समाज में तनाव पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं और कहा कि ऐसे लोगों का भंडाफोड होना चाहिए और उन्हें कड़ा दंड मिलना चाहिए.

मोदी ने कहा, ‘‘मैं हर किसी से कहना चाहता हूं कि इन फर्जी गौ रक्षकों से सावधान रहें. इन मुट्ठी भर गौ रक्षकों का गाय संरक्षण से कोई लेना…देना नहीं है बल्कि वे समाज में तनाव पैदा करना चाहते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘‘गौ रक्षा के नाम पर ये फर्जी गाय रक्षक देश की शांति और सौहार्द को बिगाडने का प्रयास कर रहे हैं. मैं चाहता हूं कि वास्तविक गाय रक्षक उनका (फर्जी गाय रक्षकों) भंडाफोड़ करें और राज्य सरकारों को उनके खिलाफ कडी कार्रवाई करनी चाहिए.’ पशुओं को देश का धन बताते हुए प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल द्वारा अवारा गायों की रक्षा करने और कृषि कार्यों के लिए उन्हें किसानों को देने के अभियान का जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि गाय धन है न कि बोझ.

उन्होंने कहा, ‘‘गाय कभी बोझ नहीं हो सकती. गाय के मूत्र और गोबर का प्रयोग खेती में किया जाता है.’ उन्होंने कहा कि गाय को देश के आर्थिक विकास से जोडा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत विविधता का देश है. मोदी ने कहा, ‘‘देश की एकता और अखंडता की रक्षा करना हमारी मुख्य जवाबदेही होनी चाहिए. इसको पूरा करने के लिए देश के हर व्यक्ति को गाय की रक्षा और सेवा करनी चाहिए. इस तरह की सेवा से राष्ट्र का वैभव बढ़ता है…यह देश के लिए समस्या पैदा नहीं करता.’

प्रधानमंत्री ने कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद कहा, ‘‘लेकिन फर्जी गाय रक्षक समाज और देश का नुकसान कर रहे हैं. हमें ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरुरत है. इन लोगों को दंडित करने की जरुरत है. तभी हम देश को उंचाइयों पर ले जा सकेंगे.’ मोदी की टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब उनकी सरकार उत्तरप्रदेश, गुजरात और मध्यप्रदेश सहित विभिन्न राज्यों में गाय रक्षकों द्वारा दलितों और मुस्लिमों पर हिंसा की घटनाओं को लेकर घिरी हुई है. इससे पहले मोदी ने मिशन भागीरथ के पहले चरण का उद्घाटन किया. यह तेलंगाना सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है जिसका उद्देश्य राज्य के हर घर में पाइप लाइन के जरिये पेयजल पहुंचाना है.मोदी ने मेडक जिले के गाजवेल विधानसभा क्षेत्र में एक पट्टिका का अनावरण किया जिसका प्रतिनिधित्व विधानसभा में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव करते हैं.जून 2014 में राज्य के गठन के बाद प्रधानमंत्री की यह पहली तेलंगाना यात्रा है.

प्रधानमंत्री ने 152 किलोमीटर लंबे मनोहराबाद…कोटापल्ली नई रेलवे लाइन के निर्माण की आधारशिला भी रखी जो हैदराबाद और करीमनगर को जोडता है. इसके अलावा उन्होंने एनटीपीसी के तेलंगाना सुपर ताप विद्युत परियोजना के प्रथम चरण, कालोजी नारायण राव स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय, वारंगल और रामागुंडम उर्वरक संयंत्र (करीमनगर) की भी आधारशिला रखी.उन्होंने अदिलाबाद जिले के जयपुर में सिंगरेनी ताप विद्युत परियोजना को देश को समर्पित किया.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here