पीवी सिंधू ने किया बड़ा उलटफेर, वर्ल्ड नंबर दो खिलाड़ी को हराकर बनाई सेमीफाइनल में जगह

151

p-v-sindhu

रियो ओलिंपिक में पीवी सिंधु ने विश्‍व की दूसरे नंबर की खिलाड़ी चीन की वांग यिहान को सीधे सेटों 22-20, 21-19 में हराकर बैडमिंटन के महिला सिंगल्‍स के सेमीफाइनल में प्रवेश किया. अब ओलिंपिक में पदक हासिल करने के लिए उनको महज एक और जीत की दरकार है. अगर वह सफल होती हैं तो ओलिंपिक में भारत को बैडमिंटन में दूसरा पदक मिलेगा. इससे पहले 2012 के लंदन ओलिंपिक में साइना नेहवाल को कांस्‍य पदक मिला था.

सिंधु ने धमाकेदार खेल दिखाते हुए चीनी चुनौती को ध्‍वस्‍त कर दिया. पहले सेट में पीवी सिंधु ने जबर्दस्‍त ढंग से खेलते हुए शुरुआत में थोड़ा पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए सेट अपने नाम किया. दूसरा सेट भी उन्‍होंने कड़े मुकाबले में जीता.

हालांकि वांग यिहान ने जबर्दस्‍त चुनौती पेश की. रैंकिंग के लिहाज से यिहान इस वक्‍त विश्‍व की दूसरे नंबर की खिलाड़ी हैं और इससे पहले ओलिंपिक में सिल्‍वर मेडल जीत चुकी हैं.

इससे पहले पीवी सिंधु ने मंगलवार को प्री-क्वार्टरफाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए ताइपेइ की यिंग जू ताइ को सीधे गेम में हरा दिया था. उन्‍होंने सीधे सेटों 21-13, 21-15 में यिंग को हराकर मैच जीता. उस पूरे मैच में सिंधु को दबदबा रहा. उनको मैच जीतने में बहुत मशक्‍कत नहीं करनी पड़ी.

सिंधु का रियो में सफर
इससे पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप में दो बार कांस्य जीत चुकीं पीवी सिंधु को रविवार को अपना दूसरा ग्रुप मैच जीतने के लिए एक घंटा 11 मिनट तक कठिन संघर्ष करना पड़ा. सिंधु ने पहले गेम में कनाडा की मिशेल ली को कड़ी चुनौती दी और हार मानने से पहले 24 मिनट तक संघर्ष किया. इसके बाद दोनों सेट जीतकर प्री-क्वार्टर फाइनल (राउंड ऑफ-16) में जगह बना ली. सिंधु ने ली को 19-21, 21-15, 21-17 से हराया.

हालांकि पीवी सिंधु ने अपने पहले मैच में शानदार जीत दर्ज की थी. सिंधु ने हंगरी की लौरा सारोसी को सीधे गेम में 21-8, 21-9 से हराया था. ओलिंपिक में सिंधु को नौवीं रैंकिंग मिली है. उन्होंने ग्रुप-एम के अपने पहले मैच में दमदार प्रदर्शन करते हुए पहला गेम 13 मिनट में और दूसरा गेम 14 मिनट में अपने नाम किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here