दामाद से शादी करके मां बन गई अपनी ही बेटी की सौतन, और पंचायत को इससे कोई ऐतराज़ नहीं!

308

प्यार वो चीज़ है, जो इंसान को किसी हद तक ले जा सकती है. अभी हाल में ही बिहार के मधेपुरा जिले के पुरैनी गांव में प्यार का एक अनोखा मामला सामने आया है. एक सास अपना दिल अपनी ही बेटी के पति को दे बैठी. सबसे हैरानी वाली बात तो ये है कि ये सिलसिला यहीं तक नहीं रुका. दोनों (सास और दामाद) ने एक कदम और आगे बढ़ते हुए एकदूसरे से शादी कर ली. जब इस बात का पता बेटी को चला, तो वो बेहोश हो गई. हालांकि पंचायत को इस प्यार से कोई शिकायत नहीं है. वो पति और पत्नी के प्यार से इतने प्रभावित हुए कि दोनों को साथ में रहने की अनुमति तक दे दी.

Untitledयह भले ही आपको सुनने में थोड़ा अजीब लगे, लेकिन ये पूरी तरह से सच है. मधेपुरा की आशा देवी को अपने दामाद से मोहब्बत हो गई. दोनों ने पूर्णिया कोर्ट में शादी भी कर ली

बेटी सदमे में है. उसको समझ में नहीं रहा है कि जिस मां ने उसका घर बसाया था, आखिर उसने उजाड़ा क्यों?

इस पूरे मसले पर पंचायत ने कहा कि सास और दामाद में अटूट प्रेम है तो उनको एक साथ रहने देना चाहिए. ऐसे में किसी को ऐतराज़ नहीं जताना चाहिए. पंचायत के फैसले से सास और दामाद खुश हैं.

कैसे पनपा प्रेम

शादी के कुछ दिनों के बाद सूरज बीमार पड़ गया. दामाद के बीमार होने की खबर सुनकर सास दामाद को देखने के लिए गई. फिर दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया. वह अपने घर लौटी, लेकिन दामाद और उसके बीच पनपा प्रेम परवान चढ़ता गया. दोनों घंटों एक-दूसरे से फोन पर बात करते थे.

बेटी के पिता को ये बात पच नहीं रही है. वे कहते हैं कि मेरे दामाद ने ही मेरी पत्नी से शादी कर ली है तो अब इसके पास अपनी बेटी को छोड़ने का क्या मतलब है. इसके साथ तो मेरी बेटी घुटघुटकर मर जाएगी.

कहा जाता है कि प्यार में कुछ सही और ग़लत नहीं होता, प्यार तो प्यार होता है. दुनिया की नज़र में ये बात भले ही बुरी हो, लेकिन प्यार में कुछ भी भला-बुरा नहीं होता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here