ब्राजील के साथ समझौते से दूर होगी दाल की कमी: पासवान

518

paswan
देश में दलहन की किल्लत और दाल की कीमतों में पिछले कुछ समय से जारी तेजी के बीच केंद्रीय खाद्य एवं जनवितरण मंत्री रामविलास पासवान ने आज कहा कि ब्राजील के साथ दाल की फसल उगाने को लेकर बातचीत चल रही है। यदि ब्राजील भारत के लिए दाल उपजाने संबंधी समझौते पर राजी हो गया तो फिर देश में दालों की कोई कमी नहीं रहेगी।

केन्द्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने आज यहां फेडरेशन ऑफ पीटीआई एम्प्लायज यूनियंस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करने के बाद संवादददाताओं से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि उनकी ब्राजील के कृषि मंत्री तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ इस बारे में बातचीत हुई है।

पासवान ने कहा कि ब्राजील में भारत से ढाई गुना अधिक जमीन है किन्तु वहां कुल जमीन के मात्र छह प्रतिशत पर ही खेती होती है। उन्होंने कहा कि ब्राजील से कहा गया है कि वह अपने देश में दालों की खेती भारत के लिए करे।

पासवान ने कहा कि इस बारे में उनकी ब्राजील के कृषि मंत्री से बातचीत हुई है। उन्होंने कहा कि भारत की ओर से इसके लिए दलहनों के बीज तथा आवश्यकता पड़ने पर प्रशिक्षित लोगों को भेजने की पेशकश की है।

केंद्रीय खाद्य मंत्री ने कहा कि इस संबंध में मोजाम्बिक की तरह ही ब्राजील से समझौता होगा और यह काम सरकारी एजेंसियों के बीच होगा और इसमें निजी पक्ष की कोई भूमिका नहीं होगी। उन्होंने कहा कि वह अपनी ब्राजील यात्रा के बारे में एक रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सौंपेंगे।

पासवान ने कहा कि अक्तूबर में ब्राजील के राष्ट्रपति की भारत यात्रा संभावित है। हो सकता है कि दोनों देशों के प्रमुख नेताओं के बीच मुलाकात में इस बारे में कोई समझौता हो जाये और इस समस्या का कोई स्थायी हल निकल आये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here