कानपुर टेस्ट : पहले दिन भारतीय टीम का स्कोर 291/9, विजय-पुजारा की मेनहत पर सबने फेरा पानी

264

pujarapost-bb-22092016

  टीम इंडिया कानपुर में अपना ऐतिहासिक 500वां टेस्ट खेल रही है. न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के इस पहले मैच में टीम इंडिया ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक 9 विकेट पर 291 रन बनाए. रवींद्र जडेजा (16) और उमेश यादव (8) नाबाद लौटे. दिन के अंतिम आउट होने वाले बल्लेबाज मोहम्मद शमी (0) रहे. उनसे पहले रविचंद्रन अश्विन (40), ऋद्धिमान साहा (0) और रोहित शर्मा (35) के विकेट गिरे. रोहित को मिचेल सैंटनर ने ईश सोढ़ी के हाथों कैच कराया. टीम इंडिया को अजिंक्य रहाणे (18) के रूप में चायकाल के बाद 209 के स्कोर पर पांचवां झटका लगा था. रहाणे को मार्क क्रैग की गेंद पर टॉम लाथम ने लपका. न्यूजीलैंड की ओर से स्पिनर मिचेल सैंटनर और ट्रेंट बोल्ट 3-3 विकेट लिए हैं.

रोहित ने फिर फेंका विकेट
वास्तव में चौथे विकेट के रूप में मुरली विजय के आउट होने के बाद बैटिंग करने आए रोहित शर्मा (67 गेंद, 35 रन, 3 चौका, एक छक्का) ने शुरुआत अच्छी की. उन्होंने सबसे पहले अजिंक्य रहाणे के साथ 24 रनों की साझेदारी की फिर आर अश्विन के साथ 52 रन जोड़े. लगने लगा था कि वह इस बार पुरानी गलती नहीं दोहराएंगे और बड़ी पारी खेलेंगे, लेकिन जैसा कि वह आमतौर पर करते हैं, सैंटनर की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में विकेट दे बैठे. उन्होंने ललचाई गेंद पर मिड-ऑन के ऊपर से खेलने की कोशिश की और गेंद ईश सोढ़ी के हाथों में समा गई.

टीम इंडिया के विकेटों का पतन
भारत का पहला विकेट 42 रन पर गिरा, जब केएल राहुल 32 रन पर आउट हो गए. दूसरा विकेट चेतेश्वर पुजारा के रूप में 154 रन पर, तीसरा 167 पर विराट कोहली के रूप में, चौथा विकेट 185 पर मुरली विजय के रूप में, पांचवां विकेट 209 के स्कोर पर अजिंक्य रहाणे के रूप में, छठा विकेट रोहित शर्मा के रूप में 261 पर, सातवां विकेट (साहा) 262 पर, आठवां (अश्विन) 273 पर और नौवां विकेट (मोहम्मद शमी) 277 रन पर गिरा.

विजय-पुजारा में शतकीय साझेदारी
ओपनर केएल राहुल के आउट होने के बाद मुरली विजय ने चेतेश्वर पुजारा के साथ 112 रन की साझेदारी की. विजय ने 119 गेंदों में टेस्ट करियर की 13वीं फिफ्टी बनाई, जो भारत के 500वें मैच की पहली फिफ्टी रही. इसके कुछ ही देर बाद पुजारा ने भी फिफ्टी जड़ दी, जो उनके करियर की 8वीं फिफ्टी रही. मुरली विजय ने सधी हुई पारी खेलते हुए 170 गेंदों का सामना किया और 65 रन बनाए. उनके बल्ले 8 चौके निकले, जबकि पुजारा ने 61 रन जोड़े.

पुजारा की अच्छी पारी के बाद कोहली सस्ते में लौटे
पुजारा 109 गेंदों में 61 रन बनाकर लौटे. पुजारा का विकेट भी स्पिनर मिचेल सैंटनर ने लिया. पुजारा के आउट होने पर आए कप्तान विराट कोहली जल्दी ही पैवेलियन लौट गए. उन्होंने 10 गेंदों में 9 रन बनाए और नील वागनर की गेंद पर ईश सोढ़ी को कैच दे बैठे.

लंच से पहले टीम इंडिया का एकमात्र विकेट केएल राहुल के रूप में गिरा. राहुल ने 39 गेंदों में 32 रन बनाए, जिसमें 4 चौके और एक छक्का शामिल रहा. सुबह टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया.

तेज खेले राहुल, लेकिन लंबी पारी नहीं खेल सके
मुरली विजय और केएल राहुल के बीच 42 रनों की ओपनिंग साझेदारी हुई. जहां विजय अपने चिरपरिचित क्लासिकल टच में दिखे, वहीं राहुल ने उनकी तुलना में तेजी से रन (39 गेंद, 32 रन) बनाए. हालांकि वह मिचेल सैंटनर की फिरकी में उलझ गए. पारी के 11वें ओवर में राहुल ने सैंटनर को एक छक्का भी लगाया था, लेकिन सैंटनर ने ओवर की अंतिम गेंद थोड़ी तेज फेंकी, पिच से थोड़ी धूल भी उड़ी और काफी पीछे हटकर खेल रहे राहुल के बैट का किनारा लेते हुए विकेटकीपर बीजे वाटलिंग के दस्तानों में समा गई. वॉटलिंग ने खूबसूरत कैच पकड़ा.

 धवन को किया बाहर
विराट कोहली ने प्लेइंग इलेवन में शिखर धवन को शामिल नहीं किया है. गौरतलब है कि धवन लंबे समय से ऑउट ऑफ फॉर्म चल रहे हैं. हालांकि उन्होंने विंडीज दौरे के पहले मैच में फिफ्टी लगाई थी, लेकिन उनके प्रदर्शन में निरंतरता नहीं रही है. इस टेस्ट मैच से पहले भारत को उस समय झटका लगा था, जब टीम के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा चिकनगुनिया होने के कारण पहले टेस्ट मैच से बाहर हो गए.लगातार चौथी सीरीज जीतने का मौका
विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया के पास लगातार चौथी टेस्ट सीरीज जीतने का सुनहरा मौका है. एमएस धोनी के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के बाद से विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीत चुकी है.

न्यूजीलैंड टीम एशिया में पिछली तीनों सीरीज में नहीं हारी है. वह बांग्लादेश, श्रीलंका और पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज ड्रॉ कराने में सफल रही थी.

न्यूजीलैंड पर भारी है टीम इंडिया
टेस्ट रिकॉर्ड के मामले में टीम इंडिया का पलड़ा न्यूजीलैंड से भारी है. दोनों टीमों के बीच अब तक 54 टेस्ट मैच हुए हैं, जिनमें टीम इंडिया ने 18 मैच जीते हैं, वहीं न्यूजीलैंड को 10 मैचों में जीत मिली हैं, जबकि 26 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं. न्यूजीलैंड ने आखिरी बार 2012 में भारत दौरा किया था, जिसमें टीम इंडिया ने उसे 2-0 से हराया था. यदि दोनों देशों के बीच आखिरी टेस्ट सीरीज की बात करें, तो टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के साथ आखिरी सीरीज उसी की धरती पर 2013-14 में खेली थी, जिसमें उसे 0-1 से हार का सामना करना पड़ा था.

2-0 से जीतने पर बनेंगे नंबर वन
इस सीरीज में अगर भारत 1-0 या 2-1 से जीतता है तो उसके 111 अंक हो जाएंगे. इतने ही अंक टेस्ट की शीर्ष टीम पाकिस्तान के हैं, लेकिन दशमलव अंक में वह भारत से आगे है. अगर टीम इंडिया यह सीरीज 2-0 से जीतती है तो उसके 113 अंक हो जाएंगे और वह नंबर एक टीम बन जाएगी. अगर भारत शीर्ष स्थान पर पहुंचता है तो ऐसा इस साल में तीसरी बार और कुल चौथी बार होगा. 1-1 से सीरीज ड्रॉ होने पर टीम इंडिया 108 अंकों के साथ चौथे स्थान पर आ जाएगी और न्यूजीलैंड टीम 97 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर चली जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here