नोट बदलने और बैंक से रूपये निकलने की नई नीति लागू, जानिए क्या है वो ?

672

500-rupee

किसानो और शादी विवाह वाले घर के लोंगो को हो रही परेशानी को ध्यान में रखते हुए सरकार नई गाइडलाइन जारी की है जिसके तहत कुछ खास और अहम् फैसले लिए गये है आइये आपको बताते हैं क्या है वो अहम् फैसले

आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई नए ऐलान किए। उन्होंने खास तौर पर किसानों को राहत देते हुए कई घोषणाएं कीं। लेकिन उन्होंने पैसे बदलने की लिमिट कम करते हुए जनता को झटका भी दिया।

शुक्रवार से बैंकों में एक व्यक्ति 4500 की जगह 2000 रुपये तक ही एक्सचेंज कर पाएगा. आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने कहा कि इससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने 500 और 1000 के नोट बदलवाने का मौका मिल सकेगा.  किसान अपने खाते से प्रति हफ्ते 25 हजार रुपये निकाल सकेंगे. फसल कर्ज के लिए मंजूर राशि में से किसान प्रति हफ्ते यह पैसा निकाल सकते हैं। उनके खाते में यह पैसा चेक या आरटीजीएस (इलेक्ट्रानिक लेन-देन) के जरिए क्रेडिट किया जाएगा। किसानो को फसल बीमा की किश्त जमा कराने की समय सीमा 15 दिन बढ़ा दी गई है.  इसके साथ ही सब्जियों के थोक व्यापारी अब 50 हजार रुपये प्रति हफ्ता तक निकाल सकते हैं.

केंद्र सरकार के कर्मचारी (ग्रुप सी तक) अपनी तनख्वाह में से 10 हजार रुपये की एडवांस रकम निकाल सकते हैं. यह राशि उनकी नवंबर की सैलरी में समायोजित कर दी जाएगी।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here