युद्धपोत INS बेतवा डाकयार्ड पर फिसला , 2 क्रू मेंबर्स की मौत, 15 लोग घायल

80

betwa

भारतीय नौसेना का युद्ध पोत आइएनएस बेतवा के साथ आज (सोमवार को) उस वक्त हादसा हो गया जब नौ सैनिक इसे नेवल डॉकयार्ड से समुद्र में उतारा जा रहा था। इस हादसे के बाद 2 जवानों की मौत हो गई है जबकि हादसे में 14 लोगों को बचा लिया गया है। उन्हें हल्की चोट आई है। सभी घायलों का इलाज चल रहा है। नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने कहा, ‘यह हादसा तकनीकी खामी के कारण हुई, नुकसान को ठीक किया जा रहा है।’

3850 टन का यह जहाज़ नौसेना के डॉकयार्ड पर खड़ा हुआ था और उसकी मरम्मत चल रही थी. इसके बाद उसे समंदर में दोबारा उतारा जा रहा था कि तभी यह घटना हुई.

स्थिति के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि 126 मीटर लंबा और 3850 टन भारी पोत गोदी से बाहर निकलते वक्त एक तरफ इतना झुक गया कि उसका आगे का खंभा जमीन से जा टकराया_

पोत को मरम्मत के लिए गोदी में लाया गया था और वापस जल में जाते वक्त पूरा पोत एक तरफ झुक गया. पोत का मुख्य खंभा भी टूट गया. प्रवक्ता ने बताया कि दो नौसेना कर्मियों की मौत हो गई जबकि 15 अन्य घायल हैं जिसमें से एक की हालत गंभीर है.

 

ब्रहमपुत्र श्रेणी का मिसाइल वाहक युद्धपोत (एफ 39) आईएनएस बेतवा दिन में करीब एक बजकर 50 मिनट पर मरम्मत के दौरान गोदी के ब्लॉक में फिसल गया.

इस पोत का नाम बेतवा नदी के नाम पर रखा गया है और यह 12 साल से अधिक समय से सेवा में है.

बता दें कि INS बेतवा, पश्चिमी नौसेना कमांड के अहम युद्धपोत में से एक हैं और यह उरान एंटी-शिप मिसाइल, बराक 1 और टारपीडो से लैस है. 2011 से लेकर अब तब किसी भारतीय युद्धपोत की बड़ी दुर्घटना होने का यह तीसरा मामला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here