भारतीय टैंक के सामने चीनी टैंक हुआ फुस्स, चीनी सैनिकों की बड़ी बेइज्जती

123
फाइल फोटो

रूस में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सैन्य गेम्स 2017 के तहत चल रहे बड़े देशों की सेना के टैंकों के बीच मुकाबले में जहां भारतीय सेना दूसरे दौर में पहुंच गयी, वहीं चीनी सेना की टीम पहले ही राउंड में बाहर हो गयी. इस वर्ष इस प्रतियोगिता में कुल 19 देशों ने हिस्सा लिया है. जिसमें, रूस, भारत, चीन, कजाकिस्तान जैसे देश भाग ले रहे हैं. पहले राउंड में रूस जहां पहले नंबर पर रहा, वहीं  भारतीय टीम पहले राउंड में चौथे नंबर पर रही. अंतरराष्ट्रीय सैन्य खेलों में 28 स्पर्धाएं होती हैं जिनका आयोजन रूस, बेलारूस, अजरबैजान, कजाखिस्तान और चीन में होता है. भारतीय सेना की टीम पिछले तीन वर्षों से स्पर्धा में हिस्सा ले रही हैं. सेना ने कहा, ‘इस वर्ष पहली बार टीम अपने टी 90 टैंकों के साथ हिस्सा लेगी जिन्हें जहाज द्वारा रूस भेजा गया है.

प्रतियोगिता के पहले राउंड में चीन का टैंक लड़खड़ा गया और देखते ही देखते चीन के टैंक के कई हिस्से अलग हो गये. मुकाबले में चीनी टैंक का पहिया ही अलग हो गया. चीनी सेना को इस प्रतियोगिता में अपने खराब सैन्य उपकरण के कारण शर्मिंदा होना पड़ा है. इसके साथ ही चीन के सैन्य उपकरणों पर एक बार फिर सवालिया निशान लग गया है. इसके बाद भारत में इसका जमकर मजाक बनाया जा रहा है कि चीन का माल है इसलिए यकीन नहीं किया जा सकता है कि कितना चलेगा. अब दूसरे राउंड में तीन दिनों तक मुकाबलें होंगे.

दूसरे राउंड में टैंक के अलावा हथियार चलाने की भी प्रतियोगिता होगी. दूसरे राउंड में भारतीय सेना का मुकाबला 10 अगस्त को होगा. दूसरे राउंड में हथियार चलाने के अलावा 48 किलोमीटर की रिले रेस होगी, जिसमें एक ही टैंक होगा और उसके द्वारा ही करतब दिखाये जायेंगे. दूसरे राउंड में टॉप पर रहनेवाली चार टीमें अगले राउंड में पहुच जायेगी. फाइनल मुकाबला 12 अगस्त को होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here