बाबा रामदेव के जीवन पर आधारित सीरियल में दिखाया जा झूठ, फूटा लोगों का गुस्सा

198

बाबा रामदेव की लाइफ पर आधारित टीवी सीरियल ‘स्वामी रामदेव : एक संघर्ष’ डिस्कवरी जीत चैनल पर दिखाया जा रहा है । जिसके पहले ही एपिसोड से विवाद खड़ा हो गया है !

बाबा पर आधारित इस सीरियल के पहले ही एपिसोड में 80 के दशक की फिल्मों की तर्ज पर कुछ ऐसा दिखाया गया है जिसके एक वर्ग उनसे खासा नाराज है और उसकी कड़ी प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर देखने को मिल रही है

इस सीरियल के पहले ही एपिसोड में दिखाया गया है कि बाबा के बचपन में बाबा के गँव में एक कृष्ण मंदिर था ! मंदिर परिसर में मेला लगता है और उस मेले में दर्शन के दौरान बाबा मंदिर मरण चले जाते हैं और भगवान श्रीकृष की मूर्ती को छू लेते हैं जिस कारण मंदिर के पुजारी द्वारा उन्हें सजा के तौर पर एक खम्भे से बांध दिया जाता है और फिर जब उन्हें खिला जाता है तो गाँव से निकल जाने के लिए क दिया जाता है

सीरियल के इसी हिस्से से लोगों की नाराजगी है लोगों का कहना है ये सब एक जातिवर्ग को बदनाम कर उसके खिलाफ द्वेष फ़ैलाने के लिए किया जा रहा है  इससे वो वर्ग भी नाराज है जिससे बाबा जी आते हैं उनका कहाँ है एक भरी पूरी समृद्ध जाति को अछूत जाति के र्रोप में प्रस्तुत कर बाब ने उनका भी अपमान किया है !

इस प्रकरण को लेकर कुछ लोग उनके गाँव भी गए वहां बुजुर्गों से जानकारी भी प्राप्त की गई जिनके अनुसार ऐसी कोई घटना इस गाँव में नहीं हुई  बलिक ये गाँव तो यादव बाहुल्य गाँव है ब्राह्मण तो मात्र दो घर हैं जिन्हें भी यादवों ने बाद में बसाया !

स्वयं उनके ताऊ ने उन्हें रामदेव को झूठा बताया है

इस सीरियल को लेकर लोगों में आक्रोश हैं और इसे बैन करने की मांग उठाने लगी है लोगों का आरोप है इससे दो जातिवर्गों के बीच वैमनष्यता फ़ैल सकती है ऐसा झूठ दिखाकर लोगों को गलत तथ्य दिखाए जा रहे हैं लोगों को कहन अहै यदि बाबा के साथ बचपन कुछ ऐसा हुआ भी है तो बाब को कानून की शरण में जाना चाहिए ऐसे टीवी पर दिखाकर एक नए विवाद को जन्म न दें

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here