बोस विवेकानंद सहित कई और महान हस्तियों के विषय में कम सामग्री पर CIC ने लगाई NCERT को फटकार

260

netaji-vevekanand
केंद्रीय सूचना आयोग(CIC) ने सुभाष चंद्र बोस समेत अन्य स्वतंत्रता सेनानियों से जुड़ी सामग्रियों पर कैंची चलाने के लिए एनसीईआरटी को आड़े हाथों लिया है। CIC ने एनसीईआरटी से जवाब मांगा है कि उसने ऐसा क्यों किया ! एनसीईआरटी से सीधे-सीधे पूछा है कि 12वीं क्लास की इतिहास की किताब में विवेकानंद पर सामग्री को 1250 से घटाकर 37 शब्दों में क्यों निपटा दिया गया। यही नहीं, आठवीं क्लास के पाठ्यक्रम से इसे पूरी तरह से हटा क्यों दिया गया।
जयपुर के सूर्यप्रताप सिंह राजावत ने सूचना आयुक्त श्रीधर आर्चायुलू के समक्ष याचिका दायर की थी। उन्होंने एनसीईआरटी किताबों में विख्यात शख्सियतों और क्रांतिकारियों के इतिहास को शामिल नहीं करने की आलोचना की है। सिलसिलेवार आरटीआई आवेदनों और लोक शिकायत आवेदनों में राजावत ने दावा किया है कि एनसीईआरीटी की इतिहास की किताबों में 36 राष्ट्रीय नेताओं और चंद्र शेखर आजाद, अशफाकउल्ला खान, बटुकेश्वर दत्त, राम प्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारियों पर सामग्री ही नहीं है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर उन्होंने आयोग का रुख किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here